आधुनिकता और प्रतिस्पर्धा के दौर में एक प्रभावी व्यक्तित्व बहुत मायने रखता है। आकर्षक शरीर किसी को भी अपनी ओर खींच सकता है, जिसके लिए शरीर का फिट रहना बहुत जरूरी है। देखा गया है कि शरीर का दुबलापन व्यक्तित्व को बुरी तरह प्रभावित करता है। खासकर, युवाओं में यह एक चिंता का विषय बन चुका है। क्योकि आज कल की युवा पीढ़ी सुडोल और आकर्षक बनाना चाहते है पर उनका दुबलापन उनकी निराशा का कारण बन चूका है। जिन लोगों का वजन कम होता है या जो दुबले पतले हैं वह खुद से हीन भावना रखते है और उनमें आत्मविश्वास की कमी रहती है।

शरीर के दुबलेपन के पीछे कई कारण हो सकते हैं। यहां हम शरीर के दुबलेपन के इन्हीं कारणों के बारे में बता रहे हैं।

सामान्य रूप से दुबलेपन के अन्य कारण हैं :  

angry पाचन शक्ति में गड़बड़ी के कारण व्यक्ति अधिक दुबला हो सकता है। 

angry मानसिक, भावनात्मक तनाव, चिंता की वजह से व्यक्ति दुबला हो सकता है।

angry यदि शरीर में हार्मोन्स असंतुलित हो जाए तो व्यक्ति दुबला हो सकता है।

angry चयापचयी क्रिया में गड़बड़ी हो जाने के कारण व्यक्ति दुबला हो सकता है।> 

angry बहुत अधिक या बहुत ही कम व्यायाम करने से भी व्यक्ति दुबला हो सकता है। 

angry आंतों में टमवोर्म या अन्य प्रकार के कीड़े हो जाने के कारण भी व्यक्ति को दुबलेपन का रोग हो सकता है।

angry मधुमेह, क्षय, अनिद्रा, जिगर, पुराने दस्त या कब्ज आदि रोग हो जाने के कारण व्यक्ति को दुबलेपन का रोग हो जाता है।

angry शरीर में खून की कमी हो जाने के कारण भी दुबलेपन का रोग हो सकता है।

दुबलापन दूर करने के लिए आप खर्चीले केमिकल वाले आधुनिक उपायों को अपनाते हैं, लेकिन इनके दुष्प्रभावों की आशंका ज्यादा रहती है। जल्दी वजन कैसे बढ़ाये के चक्कर में आप किसी समस्या में न पड़ें, इसलिए हम आपको सुरक्षित और सटीक उपाय करने की सलह देंगे।

आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों की विशेषता अतुलनीय है। मानव जाति सदैव ही इनसे लाभान्वित हुआ है तथा इनके लाभ से हम सभी परिचित है। इनके उपयोग से हम किसी भी समस्या का सुरक्षित और स्थायी समाधान कर सकते है तथा केमिकल्स युक्त दवाइयों से बचा जा सकता है। आज के मॉडर्न युग में अनुचित खान-पान की वजह से शरीर को उचित पौष्टिक तत्व नहीं मिल पाता जिसके कारण मनुष्य शारीरिक दुर्बलता का शिकार हो जाता है और तमाम बिमारियों से घिर जाता है।

आयुर्विज्ञान के विशेषज्ञों ने अश्वगंधा, शतावरी, कौचा, विदारी, गोखरू, सुनथी,जैसे दिव्य जड़ी बूटियों की विशेषता बतायी है और हमारे आयुर्वेदाचार्यो ने इसे मिला कर एक दिव्य आयुर्वेदिक दवा तैयार किया है जिसे “अश्वरीन प्लस” नाम दिया जो आपको प्राकृतिक तरीके से वजन बढ़ाने में मदद करती है जो आपके पाचन क्रिया को ठीक करती है जिससे आप जब भोजन करते है वो आपके शरीर में लगता है।  नीद पूरी होती है तो मानसिक तनाव से शांति मिलती है.श्वेत रक्त कणिकाओं का निर्माण होता है जिससे आपके बॉडी में शुक्र धातु की पूर्ति होती है और मांस धातु में बृद्धि होती है जिससे आपकी बॉडी प्राकृतिक तरीके से मजबूत होती है।

“अश्वरीन प्लस” के फायदे:-

 heart अश्वरीन प्लस में अश्वगंधा, शतावरी, कौचा, विदारी, गोखरू, सुनथीजैसी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियाँ मौजूद हैं।

 heart अश्वगंधा भूख को बढ़ाने में मदद करता  है।

 heart विदारी बलवृद्धि में मदद करती है।

 heart कौचा तनाव कम करता है, और वजन बढ़ाने में मदद करता है।

 heart गोखरू मांसपेसियों को मजबूत करने में मदद करता है।

 heart यह शरीर को सप्त धातुओं का पोषण प्रदान करती है।

 heart यह शरीर को हस्त-पुस्ट और बलवान बनाने में मदद करता है।

 heart अश्वरीन प्लस दुर्बल्य, अनुत्साह और शारीरिक थकावट की समस्या को ख़त्म करता है।

 heart अश्वरीन प्लस एक आयुर्वेदिक उत्पाद है जिसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है।

 

“अश्वरीन प्लस” के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ आवेदन (Inquiry) करे.